मैरिंगो एशिया हॉस्पिटल्स फरीदाबाद में ‘ब्रेस्ट कैंसर’ पर विशेष जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन हुआ

0
600
मैरिंगो एशिया हॉस्पिटल्स दिल्ली-एनसीआर एवं फरीदाबाद क्षेत्र के रीजनल डायरेक्टर डॉ. अजय डोगरा एनजीओ प्रेसिडेंट्स, स्त्री रोग विशेषज्ञों, ओंको एंड सर्जरी टीम के साथ दीप प्रज्वलित करते हुए

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़। रिपोर्ट अजय वर्मा। फरीदाबाद, 31 अक्टूबर 2023: हर साल अक्टूबर को ‘ब्रेस्ट कैंसर जागरूकता माह’ के रूप में मनाया जाता है। महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर की बढ़ती समस्या के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से सेक्टर-16 स्थित मैरिंगो एशिया हॉस्पिटल्स में ‘ब्रेस्ट कैंसर’ पर एक विशेष जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मैरिंगो एशिया हॉस्पिटल्स दिल्ली-एनसीआर एवं फरीदाबाद क्षेत्र के रीजनल डायरेक्टर डॉ. अजय डोगरा द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। इस खास अवसर पर विशिष्ठ अतिथि के रूप में जेजेपी पार्टी महिला जिला अध्यक्ष श्रीमती हरमीत कौर, डॉ. पुनीता हसीजा पूर्व प्रेसिडेंट-आईएमए, राष्ट्रीय महिला जागृति मंच प्रेसिडेंट श्रीमती अंबिका शर्मा, डिवाईन चैरिटेबल ब्लड बैंक फरीदाबाद की चेयरपर्सन एडवोकेट स्वाति चंदक, दक्षता फाउंडेशन एनजीओ के फाउंडर एवं प्रेसिडेंट श्री विकास वशिष्ठ और समाज सेवी श्रीमती रेणु भाटिया उपस्थित रहीं।

वहीं मैरिंगो एशिया हॉस्पिटल फरीदाबाद की तरफ से स्त्री रोग और मिनिमली इनवेसिव गायनी सर्जरी विभाग की डायरेक्टर एवं एचओडी डॉ. निशा कपूर, ऑब्स्टेट्रिक्स एवं गायनोकॉलोजी विभाग की एसोसिएट डायरेक्टर एवं हेड यूनिट-2 डॉ. गुंजन भोला, ऑन्कोलॉजी विभाग के एचओडी एवं सीनियर कंसल्टेंट डॉ. सनी जैन, सर्जिकल ऑन्कोलॉजी विभाग टीम से सीनियर कंसल्टेंट डॉ. हरीश, डॉ. विशाल चौधरी, डॉ. मोहित सक्सेना, मिनिमल इनवेसिव बैरिएट्रिक जीआई एवं एचपीबी सर्जरी विभाग के डायरेक्टर डॉ. बालकिशन गुप्ता, आर्थोपेडिक्स एवं जॉइंट रिप्लेसमेंट विभाग के डायरेक्टर डॉ. अनुराग अग्रवाल मुख्य रूप से उपस्थित रहे। इस मौके पर सम्भार्य फाउंडेशन ग्रुप ने एक नाटक के माध्यम से ब्रेस्ट कैंसर जागरूकता पर बेहतरीन सन्देश दिया। महिला क्लब टीम के द्वारा गीतों की प्रस्तुति भी की गई। इस मौके पर शहर के विभिन्न हिस्सों से आई महिलाओं की रैंडम ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर की जाँच भी की गई। इस दौरान महिलाओं को निःशुल्क मैमोग्राफी टेस्ट कराने के लिए कूपन भी बांटे गए।

इस दौरान हॉस्पिटल के चिकित्सकों ने बताया कि आजकल ब्रेस्ट कैंसर 40 साल से कम उम्र की महिलाओं को शिकार बना रहा है। दिल्ली एम्स की कैंसर पर हाल ही में की गई एक स्टडी के अनुसार, 40 साल से कम उम्र की 30 प्रतिशत महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर की शिकायत पाई गई है। यह बहुत ही चिंता का विषय है। सुस्त जीवनशैली के कारण बढ़ता मोटापा, देर से शादी करना, अर्ली मेनोपॉज (पीरियड्स जल्दी बंद हो जाने), प्रेगनेंसी देर से प्लान करना, बाँझपन, फॅमिली हिस्ट्री, धूमपान एवं शराब के सेवन के कारण महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर की समस्या तेजी से बढ़ रही है। इस मौके पर ब्रेस्ट कैंसर की रोकथाम एवं इसके सर्जिकल ट्रीटमेंट, महिलाओं के स्वास्थ्य एवं हाइजीन, सर्वाइकल कैंसर एवं बचाव, अन्य कैंसर की रोकथाम पर विस्तारपूर्वक चर्चा की गई।

LEAVE A REPLY