राजनीतिज्ञ, न्यायविद, अर्थशास्त्री और समाज सुधारक थे बाबा साहेब : राजेश भाटिया

0
599
Babasaheb was a politician, jurist, economist and social reformer Rajesh Bhatia

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ / रिपोर्ट अजय वर्मा / फरीदाबाद। भारत के संविधान निर्माता भारत रत्न डा. भीमराव अंबेडकर की जयंती के अवसर पर जजपा के जिलाध्यक्ष राजेश भाटिया के नेतृत्व में जजपा कार्यकर्ताओं ने हार्डवेयर चौक स्थित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया। इस दौरान भाटिया ने बाबा साहेब की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि बाबा साहेब ने हमेशा गरीबों और जरुरतमंद लोगों की आवाज उठाई थी राजेश भाटिया ने कहा की हमारी जिम्मेदारी बनती है कि देश के सविंधान को बचाने के लिए बाबा साहब की शिक्षाओं का ज़ोर शोर से प्रचार प्रसार किया जाये। श्री भाटिया ने कहा कि बाबा साहेब ने दलितों के खिलाफ किए जा रहे सामाजिक भेदभाव के विरुद्ध अभियान चलाया और महिला अधिकारों, दलितों का समर्थन किया। 1990 में उन्हें भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से मरणोपरांत सम्मानित किया गया। उन्होंने कहा कि डॉ. अंबेडकर को 29 अगस्त 1947 को संविधान की प्रारूप समिति का अध्यक्ष बनाया गया था। उनकी अध्यक्षता में 2 साल 11 महीने और 18 दिन के बाद संविधान बनकर तैयार हुआ।बी.आर. अंबेडकर कई प्रतिभाओं के व्यक्ति थे। वे एक राजनीतिज्ञ, न्यायविद, अर्थशास्त्री और समाज सुधारक थे।

इस कार्यक्रम में जननायक जनता पार्टी से सरदार परविंदर सिंह, गजेंद्र भड़ाना डाॅ दविंदर बक्शी, रिंकल भाटिया, गगन अरोड़ा, हरिराम किराड़, कुलदीप शर्मा, अरविंद शर्मा, कुनाल वर्मा व सामाजिक न्याय अधिकार समिति अध्यक्ष दीनदयाल गौतम, देवेंद्र गौतम, ब्रहम सिंह चौधरी सुरेंद्र कर्दम, राकेश कर्दम, कन्हैया लाल, महावीर वासुदेव, रोहतास सिंह, सुंदर सिंह, राजकुमार, अंकुर, सागर, विजय, कृष्ण, मोहित, रोहित, कुणाल, गौतम, रमेश, सुरेश, राजेंद्र व अन्य शामिल रहे

LEAVE A REPLY