ऑनलाइन बिक्री को आसान बनाने के लिए ई-कॉमर्स टेक्‍नोलॉजी में हुई प्रगति का प्रदर्शन

0
993

~ यूनी कॉमर्स द्वारा आयोजित ‘सरल’ सम्‍मेलन में 1000 से ज्यादा रिटेलर ब्रैंड्स ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई~
~ इन प्लेटफॉर्म पर ई-कॉमर्स निपुणता और उपभोक्ताओं के बेहतरीन अनुभव के लिए सर्वश्रेष्ठ तरीकों का प्रदर्शन किया गया ~
~ विशाल ई-कॉमर्स सम्मेलन, सरल 2022 ई-कॉमर्स कंपनियों और रिटेल ब्रैंड्स के लिए उन्‍नति एवं विचार-विमर्श का एक बेहतरीन मंच बनकर उभरा~

Today Express News / Ajay Varma / नई दिल्ली, 12 सितंबर, 2022: यूनी कॉमर्स द्वारा आयोजित भारत के सबसे बड़े ई-कॉमर्स समिट ‘सरल’ ने देश के ई-कॉमर्स उद्योग की वृद्धि को बढ़ावा देने में टेक्‍नोलॉजी की भूमिका का जश्न मनाया। यह ई-कॉमर्स सम्मेलन नई दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में 9 सितंबर को आयोजित किया गया। इस एक दिवसीय सम्मेलन में तकनीकी उपकरणों को अपनाकर निपुणता से ऑनलाइन बिजनेस की वृद्धि पर ध्यान केंद्रित किया गया।

ओएनडीसी के चीफ बिजनेस ऑफिसर श्री शिरीश जोशी और यूनी कॉमर्स के सीईओ कपिल मखीजा के बीच सम्‍मेलन की एक बहुअपेक्षित चर्चा हुई। ओएनडीसी किस तरह भारतीय रिटेल इंडस्‍ट्री की काया-पलट कर सकता है, इस पर इस चर्चा में विस्‍तार से बात हुई। श्रोताओं को संबोधित करते हुए श्री जोशी ने कहा “आज के समय में ई-कॉमर्स तभी संभव है जब कोई शुरू से लेकर अंत तक की प्रक्रिया को आपस में जोड़ता है और जब खरीदार एवं विक्रेता दोनों एक ही प्‍लेटफॉर्म पर रजिस्‍टर होते हैं। हमने ओएनडीसी को एक फ्‍लेक्सिबल कैपेबिलिटी के तौर पर बनाया है जिसके कई तत्‍व साथ मिलकर एक-दूसरे से इंटरैक्‍ट करते हैं। ओएनडीसी के साथ, ई-कॉमर्स एक निश्चित पूर्व-परिभाषित समाधान एक फ्लेक्सिबल सिस्‍टम में बदल जाएगी, जहां खरीदार और विक्रेता अपनी जरूरत के आधार पर जुड़ सकेंगे। यूपीआइ का इस्‍तेमाल कर जिस तरह पेमेंट किए जाते हैं जहां दो पक्ष एक-दूसरे के साथ एक एकीकृत नेटवर्क पर लेकिन अलग-अलग बैंकिंग चैनलों के जरिए लेनदेन करते हैं, ओएनडीसी भी ईकॉमर्स कंपनियों एवं विक्रेताओं को ज्‍यादा संख्‍या में खरीदारों तक पहुंचने में सशक्‍त बनाएगा। “

यूनी कॉमर्स हर साल ऑनलाइन बिक्री को आसान बनाने के उद्देश्य से सरल का आयोजन करती है। सरल 2022 में 1000 से ज्यादा रिटेल ब्रांड्स और ई-कॉमर्स कंपनियों ने हिस्सा लिया। इसमें ई-कॉमर्स से संबंधित अलग-अलग उद्योगों, जैसे 3 पीएल कंपनियों, ई-कॉमर्स इनेलबर्स, मार्केट में बेहतरीन परफॉरर्मेंस देने वाली कंपनियों, अकाउंटिंग कंपनियों, डब्ल्यूएमएस प्रदाताओं, मार्केट प्लेसेज और रिटेल सलाहकार के क्षेत्र में औद्योगिक दिग्गजों ने हिस्सा लिया। जिन कंपनियों ने पिछले साल एक मजबूत ऑनलाइन मौजूदगी दर्ज कराई थी और एक आशाजनक भविष्य की झलक पेश की, उन्‍हें भी सम्‍मानित किया गया।

इस सम्मेलन का एक लक्ष्‍य विभिन्न कारोबारियों को मजबूत ऑनलाइन बिजनेस को बनाकर खरीदारी का बेहतर अनुभव देने की अहमियत को स्‍थापित करना भी था। इस कार्यक्रम में ई-कॉमर्स बिजनेस स्थापित करने में मदद देने वाली कंपनियों से रिटेलर्स को संपर्क करने का मौका मिला। इससे नई संभावनाओं के दरवाजे खोलने में मदद मिली और रिटेलर्स में एक मजबूत ऑनलाइन बिजनेस स्थापित करने का आत्मविश्वास आया।

पैनल में मजबूत ऑनलाइन बिजनेस के निर्माण के सभी महत्वपूर्ण पहलुओं पर चर्चा की गई। डिजिटल चैनल पर मार्केटिंग के साथ कोविड के बाद ऑनलाइन बिजनेस की वृद्धि पर चर्चा हुई। इस कार्यक्रम में भाग ले रहे रिटेलर्स को अलग-अलग चैनलों से रिटेल बिजनेस करने के लिए उपयोगी जानकारी मिली। जैसेकि सप्लाई चेन में डिस्ट्रिब्यूटर्स का लाभ कैसे उठाया जाए और किस तरह से फायदेमंद डायरेक्ट टु कंज्‍यूमर बिजनेस का संचालन किया जाए।

यूनी कॉमर्स के सीईओ श्री कपिल मखीजा ने सम्‍मेलन की सफलता पर अपनी बात रखते हुए कहा, “सरल जैसे सम्‍मेलन यह दिखाते हैं कि भारत में मशहूर और उभरती हुई कंपनियां किस तरह अपने बिजनेस को आगे ले जाने के लिए टेक्‍नोलॉजी का लाभ उठा रही हैं। इस अनूठे प्‍लेटफॉर्म ने मौजूदा एवं आगामी ई-कॉमर्स ट्रेंड्स पर प्रकाश डाला। सरल 2022 की मेजबानी करने का मौका काफी ऊर्जा से भरपूर अनुभव है। पिछले 2 सालों से हम इसके वर्चुअल इवेंट ही आयोजित कर रहे थे।”

कोविड के बाद के युग में ब्रैंड्स अपने ई-कॉमर्स बिजनेस को बढ़ाने और उपभोक्ताओं का अनुभव बेहतर बनाकर ब्रैंड पर उनका विश्वास बरकरार रखने के लिए प्रयास करते हैं। जैसे-जैसे ई-कॉमर्स बिजनेस के क्षेत्र में अपना विस्तार करता जा रहा है, वैसे-वैसे कंपनियों को कारोबार के विभिन्न पहलुओं को संभालने के लिए तकनीकी साधन चाहिए। बिजनेस के इन पहलुओं में मार्केटिंग, उपभोक्ता अधिग्रहण, अलग-अलग ब्रैंड की वेबसाइट बनाना, सप्लाई चेन, लास्‍ट माइल डिलीवरी, रिटर्न मैनेजमेंट शामिल हैं। हर साल यूनी कॉमर्स कारोबारियों को ई-कॉमर्स परिचालन को मजबूत करने के मकसद से सरल का आयोजन करती है।

यूनी कॉमर्स ने 15000 ब्रैंड्स को दुनिया भर में उपभोक्ताओं के लिए खरीदारी का अनुभव बेहतर बनाने में सक्षम बनाया है। यूनी कॉमर्स की मौजूदगी 14 देशों में है और यह बेहतरीन टेक्‍नोलॉजी के साथ ई-कॉमर्स बिजनेस को चलाने के तरीके को बदल रहा है। कंपनी ने 500 मिलियन से अधिक वार्षिक लेनदेन के साथ भारत के ईकॉमर्स में 20 प्रतिशत वॉल्‍यूम को प्रोसेस किया जोकि $5 बिलियन जीएमडब्‍लू से अधिक था।

LEAVE A REPLY